Javascript not enabled
भाजपा के दिखाए रास्ते पर चली कांग्रेस - Ahirwal Today

घर-घर कांग्रेस पहुंचने का दावा, टिकटार्थियों की गुटबाजी में फंसी जिला कांग्रेस।

धर्मनारायण शर्मा। नारनौल

भाजपा ने नारा दिया-हर हर मोदी- घर घर मोदी। अब लगता है कांग्रेस ने भी भाजपा द्वारा दिखाए गए इस रास्ते को अपनाने का निर्णय कर लिया है। चुनाव से पहले पार्टी की आम मतदाताओं तक पैठ बनाने के लिए अब हरियाणा कांग्रेस ने भी नया नारा दिया है - घर घर कांग्रेस- हर घर कांग्रेस। ऐसे में लगता यही है कि सत्ता पाने के लिए भाजपा द्वारा दिखाए गए रास्ते पर कांग्रेस चलेगी। वह बात अलग है कि अयोध्या में बन रहे राम मंदिर में भगवान राम की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आने का निमंत्रण मिलने के बावजूद अपनी  तुष्टिकरण की नीति को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस वहां जाने से परहेज बरत रही है।

खैर, यह तो बात हुई कांग्रेस के भविष्य की चुनावी तैयारी को लेकर। अब बात करते हैं मौजूदा हालात की। जिला महेंद्रगढ़ में मतदाताओं में पकड़ मजबूत बनाने और कांग्रेस का बूथ स्तर पर संगठन तैयार करने के उद्देश्य से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान सोमवार नारनौल पहुंचे। वह उद्देश्य पूरा करने के लिए जिला में कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता कितने तैयार हैं, यह प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में ही सबको दिखाई दे गया। कांग्रेस पहले लोकसभा और उसके बाद विधानसभा चुनाव को लेकर कितना तैयार है? जिले में उसकी क्या तैयारी है? इसकी तस्वीर उन सबने देखी, जो इस कार्यक्रम में पहुंचे।

प्रदेश अध्यक्ष नारनौल मुख्यालय आए थे। इस कार्यक्रम में जिले भर से पार्टी कार्यकर्ताओं को यहां पहुंचना था। उसके बाद रेस्ट हाउस से लेकर किला रोड तक इस घर-घर कांग्रेस-हर घर कांग्रेस अभियान के तहत पैदल मार्च भी निकाला जाना था, लेकिन रेस्ट हाउस के घास के मैदान में लगाई गई कुर्सियों पर जिस कांग्रेस कार्यकर्ताओं के आकार विराजमान होने की उम्मीद लगाई जा रही थी, वह पूरी होते नहीं दिखी । एक बात जरूर थी कि कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं की बजाय टिकटार्थी भरपूर मात्रा में नजर आए। उनमें  प्रदेश अध्यक्ष को अपना चेहरा दिखाने की होड़ भी मची रही। चाहे वह बाहर धूप में आयोजित कार्यक्रम की बात हो या बंद कमरे में होने वाली पत्रकार वार्ता, जहां प्रदेश अध्यक्ष वही टिकटार्थियो की फौज उनके आगे पीछे मंडराती रही। प्रेस वार्ता में भी पत्रकारों से ज्यादा ऐसे नेता भारी पड़े।

धड़ेबाजी का भी दिखा असर

कांग्रेस में धड़ेबाजी पूरी तरह हावी है। हरियाणा में भूपेंद्र सिंह हुड्डा और एसआरके ग्रुप अपनी अपनी डफली- अपना अपना राग गा रहे हैं। उसका असर भी नारनौल में प्रदेश अध्यक्ष के कार्यक्रम पर दिखाई पड़ा। हुड्डा धड़े से जुड़े या दूसरों दलों से जिन्हें भूपेंद्र सिंह हुड्डा के माध्यम से कांग्रेस में लाया गया, वे चेहरे ही वहां दिखाई दे रहे थे। एसआरके यानी शैलजा, रणदीप और किरण धड़े का कोई भी कार्य करता या पदाधिकारी वहां नहीं था। इससे जुड़ा सवाल भी जब प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान से किया गया कि कांग्रेस में गुटबाजी काफी हावी है तो उनका जवाब था कि ऐसी कोई भी लोकतांत्रिक पार्टी नहीं है, जहां मतभेद ना हो। उल्टे उनका कहना था कि कांग्रेस में दावेदारों की संख्या बहुत ज्यादा है तो यह इस बात का सुखद संकेत है कि हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है।

पार्टी में अलग-अलग दर्दों द्वारा चलाए जा रहे प्रचार अभियान के सवाल पर उन्होंने कहा कि अपने तरीके से अगर कोई भी प्रचार कर रहा है तो इससे पार्टी को नुकसान नहीं होता। दूसरे गुट के लोग भी कांग्रेस की बात कर रहे हैं। कोई विरोधी बात नहीं कर रहे। अगर कभी ऐसा होता दिखा तो उसे देखा जाएगा। कुमारी शैलजा द्वारा निकाली जाने वाली यात्रा पर उनका कहना था कि वह भी कांग्रेस की नीतियों का ही प्रचार कर रही हैं। यह अच्छी बात है। अगर कोई कांग्रेस के नेतृत्व उसकी नीति के खिलाफ बात करता है तो उसे पर कार्रवाई जरूर की जाएगी।

 

 

You Might Also Like

0 Comments

Leave A Comment

Please login to comment on this news

Featured News